Featured

चंद्रयान- 2 को छह महीने के भीतर चांद पर भेजा जाएगा

चंद्रयान-2
चंद्रयान-2 अक्टूबर-नवम्बर में लॉन्च किया जाएगा (प्रतीकात्मक)

नई दिल्ली। भारत के अगले चांद मिशन चंद्रयान-2 को इस साल अक्टूबर–नवम्बर में लांच किया जाएगा। भारत ने पहली बार अपना उपग्रह चंद्रयान-1 रॉकेट के जरिये अक्टूबर, 2008 में भेजा था जिसकी कामयाबी पर पूरी दुनिया में भारत की अंतरिक्ष ताकत को सराहा गया था।





इसी कामयाबी से प्रोत्साहित होकर भारतीय अंतरिक्ष शोध संगठन (ISRO इसरो)  ने कुछ साल पहले चांद पर दूसरा अभियान भेजने का फैसला किया जिसकी तैयारी अब पूरी हो चुकी है और इसे अक्टूबर या नवम्बर महीने में भेजा जा सकेगा।

चंद्रयान-2 में एक लैंड रोवर भी लगा होगा जो चांद की सतह पर उतरेगा और वहां के पानी और मिट्टी के नमूने भारत लाएगा। इस पूरे मिशन पर करीब आठ सौ करोड़ रुपये खर्च होंगे। इसमें छह सौ करोड़ रुपये की लागत उपग्रह को बनाने पर और दो सौ करोड़ रुपये की लागत इसे लांच करने पर आएगी। यहां अंतरिक्ष विभाग के अधिकारियों का दावा है कि इसी तरह का मिशन यदि दूसरे देश से छोड़ा जाता तो उस पर दोगुने से अधिक खर्च होता।

इसरो के चैयरमैन डा. के. शिवन ने प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्यमंत्री और अंतरिक्ष मामलों के प्रभारी डा. जितेन्द्र सिंह से मुलाकात कर चंद्रयान-2 के चांद पर भेजने के पूरे कार्यक्रम की जानकारी दी। चंद्रयान-2 को श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष प्रक्षेपण केन्द्र से छोड़ा जाएगा।

Comments

Most Popular

To Top