Featured

ईद पर घर जा रहे जवान की अपहरण के बाद आतंकियों ने की निर्मम हत्या, क्षत-विक्षत शव बरामद

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले से आतंकवादियों द्वारा अपहरण किए गए सेना के जवान औरंगजेब का क्षत-विक्षत शव बरामद हुआ है। भारतीय सेना की राष्ट्रीय रायफल्स में तैनात जवान औरंगजेब को गुरूवार को किडनैप कर लिया था। जिसके 18 घंटे बाद बाद का शव दक्षिण कश्मीर के गुसू से बरामद किया गया है। जवान की निर्मम तरीके से हत्या की गई थी। स्थानीय पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।





जिस जवान का घर कल ईद की तैयारियों के बीच खुशी से चहक रहा था। आज उस घर में मातम पसरा है। किसे खबर थी कि वे अपने लाड़ले औरंगजेब को ईद पर गले भी न लगा सकेंगे। पुंछ के सबलारी सलानी मेंढर का रहने वाले औरंगजेब 4 जम्मू कश्मीर लाइट इनफैंट्री में थे और वर्तमान में वह शोपियां के शादीमार्ग में 44 राष्ट्रीय राइफल्स शिवर में तैनात थे। जवान का अपहरण उस समय किया गया जब वह ईद मनाने के लिए छुट्टी लेकर अपने घर जा रहे थे। हालांकि, जवान को बचाने के लिए सेना ने एक बड़े स्तर का आॅपरेशन भी चलाया लेकिन इसमें कामयाबी नहीं मिल सकी। जवान का गोलियों से छलनी शव पुलवामा से गुसू इलाके से बरामद हुआ है

ईद मनाने घर निकला था जवान 

अधिकारियों ने बताया कि औरंगजेब ईद के मौके पर छुट्टियां लेकर घर जा रहा थे। उनके साथी जवानों ने शोपियां में सुबह 9 बजे एक प्राइवेट गाड़ी को हाथ देकर रोका और चालक से औरंगजेब को शोपियां पहुंचाने के लिए कहा। पुलवामा जिले के कलमपोरा इलाके के पास सुबह दस बजे जब यह गाड़ी पहुंची तो दो-तीन हथियारबंद आतंकियों ने गाड़ी रोक कर जवान को अगवा कर लिया।

गोली मार कर की गई है हत्या

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक जवान की हत्या गोलीमार कर हुई है। जिसके बाद जवान के चेहरे को पत्थरों से बुरी तरह कुचला गया। स्थानीय पुलिस ने शव की पुष्टि करते हुए जांच शुरू कर दी है। आपको बता दें कि जवान औरंगजेब आतंकी समीर टाइगर का खात्मा करने वाली टीम का हिस्सा था।

Comments

Most Popular

To Top