Featured

सेना के जवान हिमालय पर बनाएंगे ‘योग’ का इतिहास

सेना का एक पर्वतारोही दस्ता

नई दिल्ली। भारतीय सेना का एक पर्वतारोही दस्ता आगामी 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर हिमालय पर्वत के भागीरथी चोटी- 2 पर योग कर नया इतिहास लिखने जा रहा है। यह पर्वत शिखर समुद्रतल से 21512 फीट पर स्थित है और यहां मौसम हमेशा चुनौतीमय रहता है।





जांबाज पर्वतरोहियों का 35 सदस्यीय यह दल सोमवार कर्नल ओमेन्द्र पवार की अगुवाई में प्रसन्न मुद्रा में रोमांच व चुनौती का सामना करने के लिए रवाना हुआ। इस दल में 9 महिला सैनिकों के अलावा दो महिला अधिकारी, तीन उच्च सेना अधिकारी (पुरुष) तथा दो जूनियर कमांडर समेत 19 जवान शामिल है।

दल के कई सदस्यों ने पर्वतारोहण के दौरान योग करने का भी प्रशिक्षण लिया है। इस पूरे अभियान में सभी सदस्य प्रतिदिन बाकायदा योग कर तरोताजा होंगे तत्पश्चात अपने लक्ष्य की ओर आगे बढ़ेंगे। पर्वतारोहण के माध्यम से लक्ष्य की प्राप्ति तीन चरणों में होगी। सर्वप्रथम 9,000 फीट पर आधार शिविर बनाया जाएगा, दूसरा 12,000 फीट की ऊंचाई पर और तीसरा 15,000 फीट की ऊंचाई पर होगा।

दल का नेतृत्व कर रहे कर्नल ओमेन्द्र पवार के मुताबिक पर्वतारोहण चुनौती भरा कार्य है, ऊंचाई पर ऑक्सीजन की कमी दिक्कत पैदा करती है। सभी सदस्य पीछे बैग पर खाने का सामान साथ रखेंगे और बेस में टीम एक साथ खाना खाएगी। गौरतलब है कि पिछले साल अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सेना के जवानों ने सियाचिन में योग किया था। इस वर्ष भी सेना की पर्वतारोहण अभियान से जुड़ी टुकड़ी कम ऑक्सीजन, मौसम की चुनौती के बीच योग कर भारत की इस प्राचीन सनातन पद्धति को आगे बढ़ाएगी।

Comments

Most Popular

To Top