Featured

सेना भर्ती में अब होगी ‘मल्टी ड्रग टेस्ट’ की शुरुआत

सेना भर्ती रैली में दौड़ते युवा

पुष्टि होने पर होगी अभ्यर्थी के खिलाफ कार्रवाई

नई दिल्ली। भारतीय थल सेना में भर्ती के इच्छुक उम्मीदवारों को अब मल्टी ड्रग टेस्ट भी देना होगा। देश में इसकी शुरुआत हरियाणा से होने जा रही है। सेना मुख्यालय ने भर्ती के नए नियम जारी किए हैं जिसके तहत यह व्यवस्था लागू की जा रही है।





अभी तक यह देखने में आ रहा था कि हरियाणा में सेना में भर्ती के लिए आए युवा शारीरिक प्रशिक्षण के दौरान अपना बेहतर प्रदर्शन करने के लिए ड्रग का सहारा लेते हैं। ऐसे में मल्टी ड्रग टेस्ट इस दिशा में न केवल अंकुश लगाने में मदद करेगा बल्कि पुष्टि होने पर अभ्यर्थी को पुलिस के हवाले किया जाएगा और कार्रवाई के बाद जेल के सलाकों के पीछे होगा।

सेना भर्ती नियमों के मुताबिक मल्टी ड्रग टेस्ट केवल उन्हीं उम्मीदवारों का किया जाएगा जो शारीरिक प्रशिक्षण के लिए योग्य घोषित किए जाएंगे। इस दौरान अभ्यर्थी के यूरिन का सैंपल लिया जाएगा। उसकी जांच कर पॉजीटिव और निगेटिव की पहचान की जाएगी। इस परीक्षण में सेना के अधिकारी स्थानीय ड्रग इंस्पेक्टर की भी मदद लेंगे, ताकि ड्रग उपलब्ध करवाने वाले दवा विक्रेता के खिलाफ भी कार्रवाई की जा सके।

सेना भर्ती कार्यालय चरखी दादरी (हरियाणा) के निदेशक कर्नल एसकेएस पिल्लै के अनुसार सेना भर्ती के दौरान हरियाणा में पहली बार मल्टी ड्रग टेस्ट लिया जाएगा और पॉजीटिव पाए जाने पर अभ्यर्थी के खिलाफ नॉरकोटिक्स एक्ट के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

रक्षक न्यूज की राय

सेना में भर्ती के लिए युवकों द्वारा तरह-तरह के तिकड़म, जुगाड़ तथा हथकंडे अपनाने की खबरें अक्सर ही पूरे देश में अखबारों की सुर्खियां बनती रहती हैं। भारतीय सेना द्वारा पहली बार शुरु हो रहा मल्टी ड्रग टेस्ट इस बात को सुनिश्चित करेगा कि प्राकृतिक रूप से ऊर्जावान तथा ह्रष्ट-पुष्ट युवा ही सेना में शामिल हो सकें।

 

Comments

Most Popular

To Top