Featured

जरूरत पड़ी तो सीमा पार भी जा सकती है सेना: राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह

नई दिल्ली। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि देश की अखंडता को बरकरार रखने के लिए सुरक्षा बल जरूरत पड़ने पर नियंत्रण रेखा पार कर सकते हैं। एक टेलीविजन कार्यक्रम में बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि ‘हम न केवल भारत की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करते हैं बल्कि देश की रक्षा के लिए जरूरत पड़ने पर सीमा भी लांघ सकते हैं।’





उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा  है और केंद्र सरकार कश्मीर मुद्दे का स्थायी समाधान चाहती है और इसकी तरफ से नियुक्त वार्ताकार बातचीत करने के इच्छुक किसी भी पक्ष से वार्ता को तैयार हैं। गृह मंत्री ने कहा कि भारत पाकिस्तान के साथ दोस्ताना संबंध रखना चाहता है लेकिन पाकिस्तान इसके लिए इच्छुक नहीं है, बल्कि लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक और 26/11 हमले के सरगना हाफिज सईद को राजनीतिक वैधता दे रहा है।

अमेरिका द्वारा पाकिस्तान समर्थित आतंकवाद की निंदा किए जाने की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि पहले कोई भी पाकिस्तान के आतंकवाद की बात नहीं करता था लेकिन अब अमेरिका भी पाकिस्तान द्वारा बढ़ावा दिए जाने वाले आतंकवाद के खिलाफ खड़ा हुआ है। इंटेलिजेंस ब्यूरो के पूर्व प्रमुख दिनेश्वर शर्मा को कश्मीर मुद्दे पर वार्ताकार नियुक्त करने का जिक्र करते हुए गृह मंत्री ने कहा कि जो भी वार्ता के लिए इच्छुक है, वार्ताकार उससे बातचीत करेंगे।

Comments

Most Popular

To Top