Featured

सेना प्रमुख ने कड़े शब्दों में कहा- चीन एक मजबूत राष्ट्र लेकिन भारत भी कमजोर नहीं

सेना प्रमुख रावत संबोधन के दौरान

नई दिल्ली। सेना प्रमुख बिपिन रावत ने अपने वार्षिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि माना चीन ताकतवर देश होगा, लेकिन भारत भी कमजोर राष्ट्र नहीं है और भारत किसी को भी अपने क्षेत्र में घुसपैठ की इजाजत नहीं देगा। आर्मी चीफ ने कहा कि अब वक्त आ गया है कि भारत अपना ध्यान उत्तरी सीमा की ओर केंद्रित करे। उन्होंने कहा कि देश चीन की आक्रामकता से निपटने में भी सक्षम है।





सेना प्रमुख ने कहा कि एलओसी पर पाकिस्तान जब भी सीजफायर का उल्लंघन करता है तो हम उसको मुंहतोड़ जवाब देते हैं। पाकिस्तान की उस पोस्ट को हम लक्ष्य करते हैं जहां से हमें लगता है कि घुसपैठ होती है। हम चाहते हैं कि पाकिस्तानी आर्मी अपनी नापाक हरकत की कीमत चुकाए।

‘CBRN हथियारों का इस्तेमाल मानव जगत को खतरे मे डाल सकता है’

रासायनिक, जैविक, रेडियोलॉजिकल और परमाणु हथियारों के प्रयोग का खतरा आज वास्तविकता का रूप धारण कर रहा है। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने डीआरजीओ वर्कशॉप और CBRN रक्षा प्रौद्योगिकियों की प्रदर्शनी का उद्घाटन कर रहे थे। सेना प्रमुख के अनुसार CBRN हथियारों का इस्तेमाल मानव जगत और व्यापार जगत को खतरे मे डाल सकता है। जिसकी भरपाई होने में लंबा वक्त लग जाएगा।

भारतीय सैनिकों को और मजबूत बनाने पर दिया बल

मालूम हो कि देश में लगातार ‘मेक इन इंडिया’ के तहत हथियारों को बनाने का कार्य चल रहा है। गत कुछ समय में ऐसी डील सामने आई है जो कि देश में ही हथियारों को बनाने पर काम करेंगी। इंडियन आर्मी दुनिया की टॉप सेनाओं में से एक है। हाल ही में DRDO में संबोधित करते हुए रावत ने कहा था कि मौजूदा समय में भारतीय सेना को और अधिक पेशेवर बनाने की जरूरत है। आधुनिकीकरण के द्वारा हम अपनी सेना को और सक्षम बना सकते हैं। रावत ने कहा कि DRDO की ओर से फौज को महत्वपूर्ण सहयोग मिला है।

 

 

Comments

Most Popular

To Top