Featured

श्रीलंका के पलाली एयरपोर्ट को विकसित करेगा एयरपोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया

नई दिल्ली। एयरपोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI) श्रीलंका के पलाली एयरपोर्ट को विकसित करेगी। हिन्द महासागर में चीन जिस तरह से अपना प्रभाव बढ़ाने में लगा है उसे देखते हुए यह बड़ा कदम माना जा रहा है। वैसे भी सामरिक दृष्टि से श्रीलंका भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण है।





एक अखबार में छपी खबर के मुताबिक AAI ने श्रीलंका में पलाली एयरपोर्ट को विकसित करने के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने के लिए भारतीय विदेश मंत्रालय के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। AAI को हवाई अड्डे के विकास और ऑपरेशन प्रबंधन में दक्षता हासिल है। निजी कंपनियों की तरह ही AAI भी अब वैश्विक स्तर पर काम करना चाहती है।

गौरतलब है कि AAI भारत में 60 से ज्यादा एयरपोर्ट्स का निर्माण कर चुकी है। AAI अब आगे बढ़ते हुए अपनी विशेषज्ञता और दक्षता का इस्तेमाल दूसरे देशों में भी करना चाहता है। पलाली एयरपोर्ट इसी सिलसिले की पहली कड़ी माना जा सकता है। श्रीलंका के उत्तरी क्षेत्र में स्थित पलाली एयरपोर्ट को भारत ने विकसित करने का वादा किया था। उत्तरी श्रीलंका में पलाली पहला एयरपोर्ट होगा। इस एयरपोर्ट के विकास से यहां रहने वाले तमिल समुदाय के लोग दक्षिण भारत, मलयेशिया और थाइलैंड से जुड़ जाएंगे। सिर्फ पलाली ही नहीं भारत ने कनकेसंथुराई एयरपोर्ट और दक्षिण में मताला इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी विकसित करने का प्रस्ताव दिया है। बता दें कि मताला एयरपोर्ट चीन द्वारा विकसित हंबनटोटा पोर्ट के बेहद करीब है।

 

 

Comments

Most Popular

To Top