C P O

NIA ने जाकिर नाइक के खिलाफ दायर की चार्जशीट

नई दिल्ली। एनआईए ने डॉक्टर से धर्म उपदेशक बने जाकिर नाइक के खिलाफ आज (गुरुवार) आरोप पत्र दाखिल कर लिया है। जाकिर नाइक पर आतंकी फंडिंग के साथ मनी लांड्रिंग का आरोप है। गत वर्ष जुलाई में ही नाइक देश छोड़ चुका है। कोर्ट ने उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी कर चुका है।





NIA ने नाइक के खिलाफ 18 नवंबर 2016 को केस दर्ज किया था। उनके एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन को गृह मंत्रालय ने गैर कानूनी घोषित कर चुका है। जानकारों के मुताबिक वह सऊदी अरब की नागरिकता हासिल कर चुका है। हालांकि अभी इसकी पुष्टि जांच एजेंसी ने नहीं की है। उसे गिरफ्तार करने के लिए एनआईए ने इंटरपोल की भी सहायता ली है।

एनआईए द्वारा गुरुवार को विशेष अदालत में पेश 65 पन्नों की चार्जशीट में नाइक पर हेट स्पीच और आतंक को बढ़ावा देने के आरोप लगाए गए हैं। चार्जशीट के साथ-साथ 1,000 पन्नों के दस्तावेज भी थे। इसमें करीब 80 गवाहों के बयान भी दर्ज हैं। नाइक ने भड़काने वाले स्पीच की वजह से पीस टीवी को फिलहाल बैन कर दिया गया है। उनका पासपोर्ट भी विदेश मंत्रालय रद्द करा चुका है।

जाकिर नाइक को पेश होने के लिए एनआईए ने तीन बार नोटिस जारी किया पर वह हाजिर नहीं हुए। उसके बाद पासपोर्ट रद्द करने व गैर जमानती वारंट जारी करने की प्रक्रिया शुरू की गई। नाइक उस समय सुर्खियों में आया जब ढाका के कैफे में हमला करने वाले आतंकियों ने कहा था कि वह जाकिर नाइक की बातों से प्रभावित हुए। हालांकि नाइक का कहना है षड्यंत्र के तहत उसे फंसाया गया है।

Comments

Most Popular

To Top