NIA

NIA ने लश्कर-ए-तैयबा आतंकी को किया गिरफ्तार, हमले की फिराक में था 

आतंकी
आतंकी की प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली। लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी हबीबुर रहमान को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने गिरफ्तार कर लिया। उसे सऊदी अरब से निर्वासित कर भेजा गया था। हालांकि NIA का कहना है कि उसे रहमान के भारत आने के बारे में सूचना मिली थी। जैसे ही वह दिल्ली पहुंचा उसे हवाई अड्डे से ही गिरफ्तार कर लिया गया है। माना जा रहा है कि वह हमले की फिराक में था।





हबीबुर रहमान को लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी शेख अब्दुल नईम का हैंडलर माना जाना जाता है। नईम को वर्ष 2007 में बांग्लादेश के रास्ते दो पाकिस्तानी और एक कश्मीरी आंतकी को भारत में घुसपैठ करने की मदद के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। मीडिया खबरों के मुताबिक अगस्त 2014 में महाराष्ट्र में अदालत में पेशी के लिए ले जाते वक्त नईम पुलिसकर्मियों को चकमा देकर फरार हो गया था।

फरार होने के बाद नईम ने पाकिस्तान और सऊदी अरब में बैठे अपने आकाओं के इशारों पर आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता रहा। NIA के एक प्रवक्ता के मुताबिक भारत में अधिक से अधिक नुकसान पहुंचाने के इरादे से आरोपियों ने संवेदनशील ठिकानों को निशाना बनाने की साजिश रची और नईम को उन ठिकानों की पहचान का जिम्मा सौंपा गया जहां आतंकी हमले किए जा सकते हों।

साजिश को अंजाम देने के लिए नईम ने फर्जी पहचान पत्र बनवाए और जम्मू-कश्मीर तथा हिमाचल प्रदेश सहित कई राज्यों का दौरा किया और आतंकी हमलों के संभावित ठिकानों की टोह ली। एक अधिकारी के मुताबिक लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हबीबुर रहमान ने पाकिस्तान में बैठ लश्कर कमांडर अमजद उर्फ रेहान के निर्देशों पर नईम के लिए ठिकानों और पैसे का इंतजाम किया ताकि भारत में आतंकी गतिविधियों को अंजाम दिया जा सके।

नईम को नवंबर 2017 में गिरफ्तार कर लिया गया। NIA ने नईम और हबीबुर रहमान समेत 11 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की। NIA ने हबीबुर रहमान को सोमवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया।

Comments

Most Popular

To Top