IB

खुफिया ब्यूरो (Intelligence Bureau)

खुफिया-ब्यूरो

खुफिया ब्यूरो जिसे इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के रूप में भी जाना जाता है। यह भारत की आंतरिक खुफिया एजेंसी है और ख्यात रूप से दुनिया की सबसे पुरानी खुफिया एजेंसी है। वैसे तो इसका गठन 1887 में हुए था लेकिन बाद में इसे 1947 में गृह मंत्रालय के अधीन केन्द्रीय खुफिया ब्यूरो के रूप में पुनर्निर्मित किया गया। यह गृह मंत्रालय के अधीन काम करता है।

गठन: 1887





आदर्श वाक्य: जागृतं अहर्निशं

मुख्यालय: नई दिल्ली

खुफिया ब्यूरो जिसे इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) के रूप में भी जाना जाता है। यह  भारत की आंतरिक खुफिया एजेंसी है और ख्यात रूप से दुनिया की सबसे पुरानी खुफिया एजेंसी है। वैसे तो इसका गठन 1887 में हुए था लेकिन बाद में इसे 1947 में गृह मंत्रालय के अधीन केन्द्रीय खुफिया ब्यूरो के रूप में पुनर्गठित किया गया। उस वक्त इसका उद्देश्य था अफगानिस्तान में रूसी सैनिकों की तैनाती पर निगरानी रखना, क्योंकि 19वीं सदी के उत्तरार्ध में इस बात का डर था कि कहीं रूस उत्तर-पश्चिम की ओर से ब्रिटिश भारत पर आक्रमण ना कर दे।

जिम्मेदारियां और गतिविधियां

  • आईबी का इस्तेमाल भारत के अन्दर से खुफिया जानकारियां इकट्ठा करने के लिए किया जाता है और साथ ही साथ खुफिया-विरोधी और आतंकवाद-विरोधी कार्यों को लागू करने के लिए किया जाता है।
  • आईबी, अन्य भारतीय खुफिया एजेंसियों और पुलिस के बीच खुफिया जानकारी को साझा करती है।
  • आईबी, भारतीय राजनयिकों और न्यायाधीशों के शपथ लेने से पहले आवश्यक सुरक्षा मंजूरियां प्रदान करती है।
  • दुर्लभ अवसरों पर, आईबी अधिकारी मीडिया के साथ बातचीत करते हैं।
  • इसके पास एक ईमेल जासूसी प्रणाली भी है जो एफबीआई (FBI) के कार्निवोर सिस्टम जैसी ही है।
  • खुफिया ब्यूरो बिना किसी वारंट के वायरटेपिंग करने के लिए अधिकृत है।

Comments

Most Popular

To Top