CBI

घूस में सोना : CBI कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

बीएल-अग्रवाल

नई दिल्ली। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट की स्पेशल सीबीआई कोर्ट के जज वीके गोयल ने शुक्रवार को घूस में सोना देने वाले छत्तीसगढ़ के पूर्व प्रधान सचिव बीएल अग्रवाल की जमानत याचिका खारिज कर दी है। कल कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रख लिया था।





सीबीआई के मुताबिक अग्रवाल अपने खिलाफ चल रहे मामले को सेटल करने के लिए बुरहानुद्दीन को रिश्वत के तौर पर डेढ़ करोड़ रुपये देने को सहमत हो गया था। अग्रवाल ने पहले भगवान सिंह से संपर्क किया और जिसने 11 फरवरी को बुरहानुद्दीन से दिल्ली में मीटिंग फिक्स करवाई। बुरहानुद्दीन ने कहा कि वह प्रधानमंत्री कार्यालय में काम करता है और अग्रवाल के खिलाफ चल रहे मामलों को आसानी से सेटल करवा देगा। बुरहानुद्दीन ने अग्रवाल को ये आश्वस्त किया कि उनके केस को सीबीआई से छत्तीसगढ़ आर्थिक अपराध शाखा में ट्रांसफर करवा देगा।

अग्रवाल 1998 बैच के आईएएस अधिकारी हैं। सीबीआई ने अग्रवाल के दफ्तर और दूसरे ठिकानों पर छापा मारने के बाद 21 फरवरी को उन्हें गिरफ्तार किया था। सीबीआई ने बीस लाख रुपये और दो किलोग्राम सोना जब्त किया है। अग्रवाल पर आरोप है कि उन्होंने अपने खिलाफ सीबीआई जांच को खत्म करवाने के लिए एक दलाल को रिश्वत दी थी। ये मामला तब का है जब अग्रवाल छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य सचिव थे। सीबीआई ने एक मामले में अग्रवाल के खिलाफ आरोप पत्र दायर कर दिया है जबकि दूसरे में जांच चल रही है।

Comments

Most Popular

To Top