CBI

आलोक कुमार वर्मा बनाए गए CBI के नए चीफ

पीएम मोदी की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय समिति ने 59 वर्षीय 1979 बैच के आईपीएस अधिकारी आलोक कुमार वर्मा के नाम को मंजूरी दी। समिति में भारत के प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति जगदीश सिंह खेहर और लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल थे।

नई दिल्ली: लगभग दो महीने बाद सीबीआई को आलोक कुमार वर्मा के रूप में नया चीफ मिल गया है। आलोक कुमार अभी दिल्ली पुलिस आयुक्त हैं। बतौर सीबीआई चीफ आलोक कुमार का कार्यकाल दो साल का होगा।





प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय समिति ने 1979 बैच के आईपीएस अधिकारी 59 वर्षीय आलोक कुमार वर्मा के नाम को मंजूरी दी। समिति में भारत के प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति जगदीश सिंह खेहर और लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल थे।

हालांकि, सीबीआई चीफ के चयन के दौरान आलोक कुमार वर्मा के नाम पर मल्लिकार्जुन खड़गे  ने असहमति दर्ज कराई। उनका कहना था कि वर्मा ने कभी भी सीबीआई के लिए काम नहीं किया है लिहाजा उन्हें सीबीआई का चीफ न बनाया जाए।

सीबीआई निदेशक के पद से दो दिसंबर को अनिल सिन्हा के सेवानिवृत्त होने के बाद एक महीने से अधिक वक्त से यह पद खाली था। फिलहाल गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना देश की प्रमुख जांच एजेंसी के अंतरिम निदेशक हैं। राकेश अस्थाना का नाम दिल्ली पुलिस कमिश्नर की रेस में चल रहा है।

सीबीआई डायरेक्टर पद की दौड़ में वर्मा के अलावा सशस्त्र सीमा बल की डायरेक्टर अर्चना रामासुंदरम, गृह मंत्रालय के स्पेशल सेक्रेटरी रूपक कुमार दत्ता और महाराष्ट्र के डीजीपी सतीश माथुर भी शामिल थे। वर्मा इससे पहले कभी सीबीआई का हिस्सा नहीं रहे, जबकि बाकी के तीनों अधिकारी सीबीआई में रह चुके हैं।

जानिए आलोक कुमार वर्मा को

  • अरुणाचल-गोवा-मिजोरम और केंद्रशासित प्रदेश (एजीएमयूटी) कैडर के 1979 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।
  • 29 फरवरी, 2016 को दिल्ली पुलिस कमिश्नर की जिम्मेदारी संभाली थी।
  • मूल रूप से दिल्ली के रहने वाले हैं। दिल्ली पुलिस, अंडमान निकोबार, पुडुचेरी, मिजोरम और आईबी में विभिन्न पदों पर सेवाएं दे चुके हैं।
  • कमिश्नर के अलावा दिल्ली पुलिस में विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। इनमें डीसीपी (साउथ), जेसीपी (क्राइम ब्रांच), जेसीपी (नई दिल्ली रेंज), स्पेशल पुलिस कमिश्नर (इंटेलिजेंस) और स्पेशल पुलिस कमिश्नर (विजिलेंस) शामिल हैं।
  • दिल्ली पुलिस कमिश्नर बनने से पहले वर्मा दिल्ली के डीजी (कारागार) थे।
  • वर्मा सीबीआई के 27वें निदेशक हैं जिनमें दो कार्यवाहक निदेशकों का कार्यकाल भी शामिल है।

Comments

Most Popular

To Top