CBI

मुख्यमंत्री वीरभद्र समेत 9 के खिलाफ कोर्ट ने लिया संज्ञान

नई दिल्ली: दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति मामले में वीरभद्र सिंह समेत नौ आरोपियों के खिलाफ संज्ञान ले लिया है। स्पेशल सीबीआई जज वीरेन्द्र कुमार गोयल की कोर्ट ने वीरभद्र सिंह और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह समेत नौ आरोपियों को 22 मई को तलब किया है। पिछले पांच मई को कोर्ट ने आज तक के लिए सुनवाई मुल्तवी की थी।





इससे पहले एक मई को वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह ने दिल्ली की पटियाला कोर्ट में सीबीआई के खिलाफ दायर अपनी अर्जी वापस ले ली थी। कोर्ट ने प्रतिभा सिंह को अपनी अर्जी वापस लेने की अनुमति दी और जब जरूरत हो तब अपने अधिकार के इस्तेमाल की छूट दी है।

बीते 24 अप्रैल को दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह ने सीबीआई पर आरोप लगाया कि उसने बिना प्रक्रियाओं का पालन किए ही आरोप-पत्र दाखिल कर दिया। हाईकोर्ट ने इसके बाद सीबीआई को नोटिस जारी किया था। याचिका में प्रतिभा सिंह की तरफ से कहा गया था कि जांच के दौरान मिले गवाहों और साक्ष्य क्या आरोप-पत्र का हिस्सा हो सकते हैं और क्या कोर्ट उनका संज्ञान लेते समय उनका परीक्षण कर सकती है? उन्होंने सीबीआई के आरोप पत्र पर संज्ञान नहीं लेने का आग्रह किया था।

10 करोड़ की सम्पत्ति जुटाने का आरोप

सीबीआई ने इस मामले में इसी साल 31 मार्च को 500 पेज की चार्जशीट दायर की थी जिसमें दावा किया गया है कि वीरभद्र सिंह ने केंद्रीय मंत्री रहते करीब 10 करोड़ रुपए की संपत्ति जुटाई, जो उनकी कुल आय से करीब 192% ज्यादा थी। सिंह 2009 से 2012 तक केंद्र सरकार में मंत्री रहे थे।

Comments

Most Popular

To Top