CBI

साफगोई के लिए मशहूर CBI के पूर्व निदेशक का निधन

जोगिंदर-सिंह, सीबीआई

सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर जोगिंदर सिंह का शुक्रवार 78 वर्ष की आयु में निधन हो गया। वह लेंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनका अंतिम संस्कार शनिवार दोपहर 1 लोदी रोड श्मशान घाट पर किया जाएगा। 1996-97 में सीबीआई डायरेक्टर के तौर पर जोगिंदर सिंह ने बोफोर्स तोप सौदा, चंद्रा स्वामी, सेंट किट्स घोटाला और रक्षा सौदे में घोटाले की जांच की थी।

नई दिल्ली: सीबीआई के पूर्व डायरेक्टर जोगिंदर सिंह का शुक्रवार को 78 वर्ष की आयु में निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार थे। उनका अंतिम संस्कार शनिवार दोपहर 1 बजे लोदी रोड श्मशान घाट पर किया गया।





1996-97 में बतौर सीबीआई डायरेक्टर जोगिंदर सिंह ने बोफोर्स तोप सौदा, चंद्रा स्वामी, सेंट किट्स घोटाला और रक्षा सौदे में घोटाले की जांच की थी। सरकारी दखलंदाजी से जब उन्होंने नाराजगी जताई तो उन्हें पद से हटा दिया गया। चारा घोटाले की जांच में भी उनकी अहम भूमिका थी। इस मामले में लालू यादव को दोषी ठहराया गया था। सिंह सिर्फ 11 महीने सीबीआई डायरेक्टर रहे। उन्हें साफगोई के लिए जाना जाता था।

वह कर्नाटक कैडर से 1961 बैच के आईपीएस थे। वह महज 20 वर्ष की उम्र में आईपीएस अधिकारी बने थे। उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री एच. डी. देवगौड़ा ने उन्हें सीबीआई डायरेक्टर बनाया था। इसके अलावा वह आईटीबीपी, सीआईएसएफ, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो और आरपीएफ के डायरेक्टर जनरल भी रहे। 

CBI की स्वायत्तता को लेकर उठाए थे सवाल

चार साल पहले एक आर्टिकल में जोगिंदर सिंह ने कहा था कि सीबीआई को इलेक्शन कमीशन और कैग जैसे पावर देकर उसे सरकार के दायरे से अलग करना चाहिए क्योंकि कहीं ना कहीं यह सबसे बड़ी जांच एजेंसी दबाव में काम करती है।

Comments

Most Popular

To Top