CBI

अगस्ता घोटाला : ‘मीडिया रोल’ की जांच कर सकती है CBI-ED

देश के बहुचर्चित घोटालों में से एक अगस्ता हेलीकॉप्टर घोटाले से जुड़े ‘मीडिया रोल’ की जांच सीबीआई या ईडी कर सकती है। दरअसल…

नई दिल्ली: देश के बहुचर्चित घोटालों में से एक अगस्ता हेलिकॉप्टर घोटाला से जुड़े ‘मीडिया रोल’ की जांच सीबीआई या ईडी कर सकती है। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को अगस्ता हेलिकॉप्टर घोटाला मामले से जुड़ी एक जनहित याचिका की सुनवाई करने पर सहमति जता दी।





याचिका में ‘मीडिया रोल’ पर उन आरोपों की सीबीआई या एसआईटी से जांच कराने की मांग की गई है, जिसमें कहा गया है कि हेलीकॉप्टर सौदे में भारतीय मीडिया को ‘मैनेज’ करने के लिए अगस्ता वेस्टलैंड ने 60 लाख यूरो खर्च किए थे।सुप्रीम कोर्ट में यह पीआईएल पत्रकार हरि जयसिंह ने दायर की है। हरि जयसिंह अखबार ‘द ट्रिब्यून’ के पूर्व संपादक हैं। याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जयसिंह से याचिका को सीबीआई और ईडी को उपलब्ध कराने को कहा है और याचिका को संबंधित मामले के साथ जोड़ दिया, जिसकी सुनवाई दूसरी पीठ कर रही है।

हरि जयसिंह ने याचिका में में रिपोर्ट के माध्यम से सौदे को प्रभावित करने के आरोप में मीडिया की कथित भूमिका पर एक रिपोर्ट की मांग की है। पीआईएल के माध्यम से आरोप लगाए गए हैं कि अगस्ता वेस्टलैंड के ‘मीडिया प्रबंधन’ से कुछ बड़े पत्रकारों सहित कुछ खास पत्रकार फायदा उठाने वालों में शामिल हैं। पीआईएल के मुताबिक, भारतीय मीडिया के पत्रकारों ने अगस्टा वेस्टलैंड डील के पक्ष में रिपोर्ट लिखा।

क्या है अगस्ता घोटाला

अगस्ता वेस्टलैण्ड हेलिकॉप्टर घोटाला भारत की तरफ से अगस्ता वेस्टलैण्ड कम्पनी से खरीदे जा रहे हेलिकॉप्टरों से सम्बन्धित है। यह 2013-2014 में सामने आया। इसमें कई भारतीय राजनेताओं एवं सैन्य अधिकारियों पर अगस्ता वेस्टलैण्ड से मोटी घूस लेने का आरोप है।

यूपीए-1 सरकार के समय अगस्ता वेस्टलैंड से वीवीआईपी के लिए 12 हेलिकॉप्टरों की खरीद का सौदा हुआ था। यह सौदा 3,600 करोड़ रुपए का था। इसमें 360 करोड़ रुपए की रिश्वतखोरी की बात सामने आई जिसके बाद यूपीए सरकार ने सौदा रद कर दिया।

पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी हिरासत में

पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी हिरासत में

मामले में पूर्व एयर फोर्स चीफ एसपी त्यागी सहित 13 लोगों पर केस दर्ज किया गया था। जिस बैठक में हेलिकॉप्टर की कीमत तय की गई थी, उसमें यूपीए सरकार के कुछ मंत्री भी मौजूद थे। इस कारण कांग्रेस पर भी सवाल उठे थे। इस फैसले में कांग्रेस के कई नेताओं के नाम भी लिए हैं। मामले की जांच सीबीआई कर रही है। सीबीआई ने एसपी त्यागी और दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा। फिलहाल एसपी त्यागी बेल पर बाहर हैं। 

Comments

Most Popular

To Top