CBI

आलोक वर्मा ने सीबीआई डॉयरेक्टर का कार्यभार संभाला

दिल्ली पुलिस के पूर्व कमिश्नर आलोक वर्मा ने CBI डायरेक्टर का पदभार संभाल लिया है। पीएम नरेंद्र मोदी, मुख्य न्यायाधीश जस्टिस जे एस खेहर, विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन की समिति ने नियुक्ति की थी वर्मा दो साल तक सीबीआई चीफ रहेंगे।

दिल्ली पुलिस के पूर्व कमिश्नर आलोक वर्मा ने CBI डायरेक्टर का पद संभाल लिया है। वह दो साल तक सीबीआई चीफ रहेंगे। उन्होंने अनिल सिन्हा की जगह ली। आलोक वर्मा के अलावा तीन और आईपीएस अफसर सीबीआई डायरेक्टर पद की दौड़ में शामिल थे, जिनमें आलोक वर्मा सबसे वरिष्ठ थे। आलोक वर्मा की नियुक्ति पीएम नरेंद्र मोदी, मुख्य न्यायाधीश जस्टिस जे एस खेहर, विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन की समिति ने नियुक्ति की थी। 





एजीएमयूटी कैडर के 1979 बैच के अधिकारी

बीते 2 दिसंबर से सीबीआई निदेशक का पद खाली था। सरकार ने 1984 बैच के गुजरात कैडर के आईपीएस अधिकारी राकेश अस्थाना को बतौर इंचार्ज डायरेक्टर बनाया था। एजीएमयूटी कैडर के 1979 बैच के अधिकारी आलोक वर्मा तिहाड़ जेल के महानिदेशक के रूप में काम कर चुके हैं। उन्होंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर के अलावा दिल्ली पुलिस में विभिन्न पदों पर अपनी सेवाएं दे चुके हैं। इनमें डीसीपी (साउथ), जेसीपी (क्राइम ब्रांच), जेसीपी (नई दिल्ली रेंज), स्पेशल पुलिस कमिश्नर (इंटेलिजेंस) और स्पेशल पुलिस कमिश्नर (विजिलेंस) शामिल हैं।

सीबीआई डायरेक्टर पद की दौड़ में वर्मा के अलावा सशस्त्र सीमा बल की डायरेक्टर अर्चना रामासुंदरम, गृह मंत्रालय के स्पेशल सेक्रटरी रूपक कुमार दत्ता और महाराष्ट्र के डीजीपी सतीश माथुर भी शामिल थे।

पीएम की अध्यक्षता में हुआ सेलेक्शन

इससे पहले वर्मा कभी सीबीआई का हिस्सा नहीं रहे, जबकि बाकी के तीनों अफसर सीबीआई में रह चुके हैं। पीएम मोदी की अध्यक्षता में सलेक्शन पैनल की मीटिंग में आलोक वर्मा के नाम पर आम सहमति नहीं बन सकी थी। सलेक्शन पैनल में प्रधानमंत्री के अलावा लोकसभा में सबसे बड़े विपक्षी दल कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस जे एस खेहर शामिल थे।

Comments

Most Popular

To Top